Wednesday, March 24, 2010

इस देश में जायज़ और नाजायज़ क्या है?

कोर्ट जो कह दे सब माने को तैयार हो जाते है । नहीं तो कौन साला ध्यान देता है है उसपे। लिव इन रिलेशन शिप को कोर्ट ने कहा की क्या बुराई है , वाकई क्या बुराई दो लोग प्यार मोहब्बत से साथ रह रहे हैं तो दुसरे को पेचिश क्यों होवे? पर होती है ! सभी को होती है ! कोर्ट को देख के लगता है की कानून नामक कुछ चीज़ है इंडिया में , समलैंगिक का कानून बन गया , लिव इन रिलेशन शिप पे कोर्ट को कोई ऐतराज़ नहीं है, (औरो को तो है, पर अब कोई बोल के दिखावे ) तो.....

हे कोर्ट देव !
जरा उन बच्चो की और भी ध्यान दीजिये प्यार के नाम पे , समान गोत्र के नाम पे फाँसी पे लटका दिए जाते हैं और समाज, देश टुकुर टुकुर देखता रहता है, अगर वे बालिग नहीं हैं तो क्या उनकी भावनाओ का कोई मायने नहीं है? सोचिये जरा!

3 comments:

  1. रामनवमी की शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  2. aapko bhi ram navami ki dher sari shubhekcha!!

    ReplyDelete
  3. मेरी लड़ाई Corruption के खिलाफ है आपके साथ के बिना अधूरी है आप सभी मेरे ब्लॉग को follow करके और follow कराके मेरी मिम्मत बढ़ाये, और मेरा साथ दे ..

    ReplyDelete